रविवार, 4 मई 2008

मीडिया के संचार तंत्र को मजबूत बना रही है नमन् गणतंत्र : डॉ. गोविन्द सिंह

मीडिया के संचार तंत्र को मजबूत बना रही है नमन् गणतंत्र : डॉ. गोविन्द सिंह

ग्वालियर सूचना क्रांति के दौर में संचार की महत्ता सर्वाधिक है और आज के प्रतियोगी युग में वही व्यक्ति सबसे सफल होगा जिसका संचार तंत्र ज्यादा मजबूत और त्वरित कार्य करेगा यह बात ग्वालियर नामा द्वारा प्रकाशित ''नमन् गणतंत्र'' के आठवें अंक के विमोचन समारोह में वक्ताओं ने कही इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व सहकारिता मंत्री तथा लाहार क्षेत्र के विधायक डॉ. गोविन्द सिंह थे कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्वालियर विशेष क्षेत्र प्राधिकरण (साडा) के अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह ने की विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मंत्री श्री अशोक सिंह, डॉ. रामविद्रोही संपादक आचरण, श्री राकेश पाठक संपादक नई दुनिया, डॉ. सुरेश सम्राट संपादक नवभारत, श्री संजय बैचेन संपादक जागरण, श्री लोकेन्द्र पाराशर संपादक स्वदेश उपस्थित थे।

       कार्यक्रम की शुरूआत ग्वालियर नामा के संरक्षक तथा नमन् गणतंत्र के संपादक देव श्रीमाली स्वागत भाषण और प्रकाशन की जानकारी देकर की । इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार रविन्द्र झारकरिया, प्रदीप माण्डरे, डॉ. केशव पाण्डेय, जनसंपर्क विभाग के संयुक्त संचालक श्री सुभाष अरोडा ने अपने संबोधन में नमन् गणतंत्र के प्रकाशन के लिये शुभकामनाये दीं ।

       मुख्य अतिथि डॉ. गोविन्द सिंह ने कहा कि नमन् गणतंत्र आगामी आठ वर्षों से नियमित प्रकाशित हो रही है । यह एक दुष्कर कार्य है । बावजूद इसके ग्वालियर नामा यह प्रयास कर रहा है और न केवल ग्वालियर चंबल अंचल अपितु समुचे मध्यप्रदेश में लोकप्रिय है यह लोगों को एक-दूसरे से जल्द से जल्द जोड़ने का महत्वपूर्ण उपकरण बन गया है । निश्चित तौर पर यह प्रयास सराहनीय है ।

       साडा के अध्यक्ष श्री कुशवाह ने कहा कि नमन् गणतंत्र अब केवल मीडिया वालों ही नहीं राजनीतिकों, समाज सेवियों और आमजनों तक की अपरिहार्य पुस्तक बन चुकी है और इसके बिना कार्य सम्पन्न करना कठिन लगता है ।

       विशिष्ट अतिथि अशोक सिंह ने कहा कि यह डायरेक्ट्री इतनी उपयोगी है कि लोग घर से निकलते समय इसे रखना कभी नहीं भूलते। डॉ. रामविद्रोही ने कहा कि इसमें संभाग की संक्षिप्त जानकारी का भी समावेश करें तो राकेश पाठक ने कहा कि इसकी पैंठ अंचल के गांव-गांव तक पहुंच गई है और यह इसकी लोकप्रियता को प्रदर्शित करती है। संजय बैचेन ने कहा कि इस डायरेक्ट्री ने लोगों को एक तरह से एडिक्ट बना दिया है । डॉ. सुरेश सम्राट ने कहा कि नमन् ने लगातार अपने स्वरूप में विस्तार किया है और लोकप्रियता में भी । लोकेन्द्र पाराशर ने कहा कि अब यह मीडिया के लोगों का बड़ा सहारा बन गई है और यह दुष्सहास कार्य देव श्रीमाली द्वारा किया जा रहा है ।

       कार्यक्रम के प्रारंभ में संपादक देव श्रीमाली, रवि शेखर, डॉ. विमलेन्द्र सिंह राठौर, सुनील पाठक, तेजपाल सिंह, राजेश शर्मा, राजेश मंगल, मंजर अली, कुलदीप, राकेश झा आदि ने पुष्पहार पहनाकर अतिथियों को स्वागत किया । कार्यक्रम का सफल संचालन वरिष्ठ पत्रकार राकेश अचल तथा आभार प्रदर्शन ग्वालियर नामा के सचिव अरूण तोमर ने किया ।

 

1 टिप्पणी:

ananjay ने कहा…

आप ग्वालियर की बात कर रहे हैं मुझे यहां दिल्ली में ये छोटी सी किताब इतनी ज़रुरी लगती है कि बता नहीं सकता। कहीं बाहर निकलता हूं तो गाड़ी में रखकर ही चलता हूं, पता नहीं कब ज़रुरत पड़ जाये। पत्रकार क्या आम आदमी के लिये भी ये इतनी ही उपयोगी है। देव श्रीमाली से सिफारिश लगाइये कि अगली बार समय पर छप जाये।
अजय शर्मा
(समाचार संपादक: एनडीटीवी इंडिया)
नई दिल्ली